DDL Exam

DDL Exam

DDL Exam

DDL Exam

DDL Exam

जुलाई, अंतिम सप्ताह , महत्वपूर्ण कर्रेंट अफेयर्स :-

साप्ताहिक कर्रेंट अफेयर्स (जुलाई 2020)

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को मंजूरी दे दी है


यह 21वीं सदी की पहली शिक्षा नीति है और यह 34 साल पुरानी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनपीई), 1986 की जगह लेगी।

सबके लिए आसान पहुंच, इक्विटी, गुणवत्ता, वहनीयता और जवाबदेही के आधारभूत स्तंभों पर निर्मित यह नई शिक्षा नीति सतत विकास के लिए एजेंडा 2030 के अनुकूल है।

12 साल की स्कूली शिक्षा और 3 साल की आंगनवाड़ी / प्री-स्कूलिंग के लिए एक नई 5 + 3 + 3 + 4 स्कूली पाठ्यक्रम व्यवस्था लागू की जाएगी।

नमामि गंगे परियोजना

हाल ही में नमामि गंगे परियोजना को प्रतिष्ठित लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए प्रधानमंत्री पुरस्कार - 2020’ में शामिल किया गया है।


राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (National Mission for Clean Ganga) अथवा नमामि गंगे परियोजना को वर्ष 2014 में शुरू किया था।

नमामि गंगे परियोजना का क्रियान्वयन केंद्रीय जल संसाधन,नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।

राफेल विमान

भारतीय वायुसेना में पांच सुपरसोनिक राफेल लड़ाकू विमानों के शामिल होने के बाद अब इनकी संख्‍या छह हो गई है। उल्लेखनीय है कि फ्रांस निर्मित राफेल का पहला विमान ‘RB 001‘ भारत को पिछले वर्ष अक्‍टूबर में मिला था।


भारत सरकार ने फ्रेंच कंपनी दसॉल्ट एविएशन को 2016 में 36 राफेल जेट का ऑर्डर दिया था |

पांच राफेल विमानों के आने के साथ, बाकी के बचे विमानों को कई चरणों में 2021 तक पहुंचाया जाना है।

राफेल विमान फ्राँस की दसॉल्ट एविएशन द्वारा बनाया गया दो इंजन वाला मल्टी-रोल लड़ाकू विमान है। यह 4.5 पीढ़ी का विमान है। राफेल विमान अपने साथ परमाणु हथियार समेत कई मिसाइलों को लेकर उड़ान भर सकता है।

राफेल विमान 1800 किमी प्रति घंटे की गति तक पहुंचने में सक्षम है।

भारत ने अपनी जरूरत के हिसाब से इन विमानों में हैमर (HAMMER) मिसाइल लगवाई है। हैमर मिसाइल का इस्तेमाल मुख्य रूप से बंकर या कुछ छिपे हुए स्थानों को तबाह करना होता है।

 

चौथे अखिल भारतीय बाघ अनुमान की विस्तृत रिपोर्ट

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने बाघों की गणना पर एक विस्तृत रिपोर्ट (चौथे अखिल भारतीय बाघ अनुमान की विस्तृत रिपोर्ट) जारी की |


वर्तमान में, टाइगर रिज़र्व में बाघों की आबादी 1,923 है जोकि भारत की कुल बाघ आबादी का 65 प्रतिशत है।

रिपोर्ट के अनुसार, बाघों के राज्य-वार वितरण में, मध्य प्रदेश में सर्वाधिक 526 बाघ पाए गए एवं इसके बाद कर्नाटक में 524 और उत्तराखंड में 442 बाघ पाए गए थे।

2018-19 के लिए टाइगर रिज़र्व में बाघों की जनसंख्या के अनुमान के अनुसार, जिम कॉर्बेट में सर्वाधिक 231 बाघ है उसके उपरान्त कर्नाटक के नागरहोल और बांदीपोर में हैं, क्रमशः 127 और 126 बाघ हैं।

देश में 50 टाइगर रिज़र्व में से तीन रिज़र्व -मिजोरम का डंपा रिजर्व, पश्चिम बंगाल का बक्सा रिजर्व और झारखंड का पलामू रिजर्व में कोई बाघ अब नहीं बचा है।

विश्व हेपेटाइटिस दिवस 2020

दुनियाभर में कोरोना संकट के बीच विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया जा रहा है।

भारत में इसके प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए सांसदों के दूसरे ई-सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस सम्मेलन का विषय था कोविड-19 के समय अपने लिवर को सुरक्षित रखना


 

 

कारगिल विजय दिवस

26 जुलाई 1999 के दिन भारतीय सेना ने कारगिल युद्ध के दौरान चलाए गए ऑपरेशन विजयको सफलतापूर्वक अंजाम देकर भारत भूमि को घुसपैठियों के चंगुल से मुक्त कराया था। इसी याद में 26 जुलाई अब हर वर्ष कारगिल विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन है उन शहीदों को यादकर श्रद्धा-सुमन अर्पण करने का है , जो मातृभूमि की रक्षा करते हुए वीरगति को प्राप्त हुए।

 

 

अन्य महत्वपूर्ण सन्दर्भ:-

·         हाल ही में केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राष्ट्रीय मधुमक्खी बोर्ड (एनबीबी) के सहयोग से राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) द्वारा आणंद (गुजरात) में स्थापितभारत की विश्वस्तरीय अत्याधुनिक शहद परीक्षण प्रयोगशालाका वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शुभारम्भ किया।

·         ब्रू शरणार्थी- ब्रू समुदाय मिज़ोरम का सबसे बड़ा अल्‍पसंख्‍यक आदिवासी समूह है। ब्रू आदिवासी समुदाय के क़रीब 35 हज़ार सदस्य त्रिपुरा में पिछले 23 सालों से शरणार्थी के रूप में रह रहे हैं।

इस जनजातीय समूह के सदस्य म्‍यांमार के शान प्रांत के पहाड़ी इलाके के मूल निवासी हैं जो कुछ सदियों पहले म्यांमार से आकर मिज़ोरम में बस गए थे।

त्रिपुरा के गैर-ब्रू समुदाय ने मिजोरम से विस्थापित ब्रू समुदाय को बसाने के लिए छः स्थानों का प्रस्ताव दिया है। ये स्थान हैं, कंसारीपुर उपखंड में बांदरिमा-पुष्पोरापारा, सचान हिल्स, चाईगढ़पुर, सुबलबाड़ी, कलारंबरी-बंदरिमा और पनिसागर उपखंड में कुकिनाला।

·         चीन की अंतरिक्ष एजेंसी नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने मंगल पर अपने पहले स्वतंत्र मिशन तियानवेन-1 के सफल प्रक्षेपण की पुष्टि की है।

इससे पहले भारत, अमेरिका, रूस और यूरोपियन यूनियन ही चाँद पर सफलता अपने उपग्रह सफलता पूर्वक भेज पाये हैं।

·         H-CNG :- एचसीएनजी एक वाहन ईंधन है जो संपीड़ित प्राकृतिक गैस सीएनजी और हाइड्रोजन का मिश्रण है आम तौर पर इसमें कुल आयतन का 8% से 50% भाग हाइड्रोजन होती है मौजूदा प्राकृतिक गैस इंजनों का उपयोग एचएनजी के साथ किया जा सकता है हालांकि उच्च हाइड्रोजन मिश्रण के इष्टतम प्रदर्शन के लिए इंजनों के पुनःसमंजन(Retunnig) की आवश्यकता होती है। अध्ययनों से पता चलता है कि प्रदर्शन और उत्सर्जन की कमी लाने के लिए आयतन के 20 से 30% भाग हैड्रोजन वाला एचएनजी मिश्रण है।

·         लोनार झील ;- महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में स्थित लोनार झील के पानी का रंग बदलने के अध्यनन की रिपोर्ट आ गयी है जिसमे हालोआर्चियाबैक्टीरिया (जीवाणुओं) को झील के रंग गुलाबी होने में उत्तरदायी मन गया है।

·         काकरापारा परमाणु उर्जा संयंत्र :- स्वदेशी डिजाइन पर आधारित 700 एमडब्‍ल्‍यूई का केएपीपी-3 रिएक्टर स्वदेशी तकनीक का उत्कृष्ट उदहारण है जिसके परमाणु रिएक्टर के के परिचालन के बाद भारत उन देशों की कतार में खड़ा हो गया है, जिनके पास न्यूक्लियर पावर तकनीक है। काकरापार परमाणु ऊर्जा संयन्त्र, भारत का एक परमाणु ऊर्जा संयंत्र है जो गुजरात के तापी जिले के व्यारा नगर के समीप स्थित है। यहाँ पर पहले से ही 220 मेगावाट क्षमता के दो परमाणु रिएक्टर थे।

ये दाबित भारी जल रिएक्टर हैं।

काकरापार में पहली इकाई की स्थापना 1992 में हुई थी।

अभी निर्मित स्वदेशी रिएक्टर काकरापार में तीसरा संयंत्र है जिसकी क्षमता 700 मेगावाट है। यह रिएक्टर मेक इन इंडिया तथा आत्मनिर्भर भारत के अभियान को बढ़ावा देगा।

 ddlexam.com

for pdf email us

Comments :-